Search for:
  • Home/
  • Uncategorized/
  • सरदार सुखबीर सिंह बादल ने बारिश और बाढ़ प्रभावित चार हलकों का दौरा किया,बाढ़ग्रसित किसानों तक ट्रैक्टर पर पहुंचे ।

सरदार सुखबीर सिंह बादल ने बारिश और बाढ़ प्रभावित चार हलकों का दौरा किया,बाढ़ग्रसित किसानों तक ट्रैक्टर पर पहुंचे ।

पंजाब उजाला न्यूज

सरदार सुखबीर सिंह बादल ने बारिश और बाढ़ प्रभावित चार हलकों का दौरा किया,बाढ़ग्रसित किसानों तक ट्रैक्टर पर पहुंचे ।

नवांशहर (राहुल कश्यप) शिरोमणी अकाली दल के अध्यक्ष सरदार सुखबीर सिंह बादल ने बंगा हलके के साथ साथ बंगा, बलाचैर और आनंदपुर साहिब में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की समीक्षा करते हुए संकटग्रस्त लोगों की तत्काल सहायता प्रदान करने तथा साथ ही उन्होने अकाली दल के कार्यकर्ताओं से भोजन ,चिकित्सा सहायता,पशुओं के लिए चारा और लोगों की सहायता के लिए अपने प्रयासों को दोगुना करने का आग्रह किया है।अकाली दल अध्यक्ष गंभीर रूप से प्रभावित गांवों के साथ साथ अन्य हलकों में ट्रैक्टर पर सवार होकर पहंुचें तथा कहा कि किसान समुदाय पर जो कहर बरपा है वह अकल्पनीय है। उन्होने कहा,‘‘ हजारों एकड़ से अधिक धान तबाह हो गया और किसान रोपाई के लिए फिर से धान की नर्सरी तैयार करने में असमर्थ होने के कारण अंधकारमय भविष्य की की ओर देख रहे हैं’’। उन्होने कहा कि इसी तरह सब्जियां उगाने वाले सीमांत किसानों की उपज पूरी तरह से नष्ट होने के कारण पूरी तरह तबाह हो गए हैं।सरदार सुखबीर सिंह बादल ने सभी हलकों में लोगों से बातचीत की। इस हलके के चेता गांव में लोगों ने कहा कि क्षेत्र में नाले की सफाई करने में सरकार की नाकामी के कारण उनके दुखों को बढ़ा दिया है। उन्होने खुलासा किया कि कैसे गाद निकालने के लिए नाले की खुदाई नही की गई थी तथा इसके ‘बंधों’ को मजबूत नही किया गया था। उन्होने बताया कि अन्य हलके के लोगों ने यही शिकायत दोहराई, जो लगातार बारिश के कारण बाढ़ के खतरे को दूर करने के लिए सुधारात्मक कार्रवाई करने में सरकार की पूर्ण नाकामी का संकेत देती हैं।अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि किसानों ने उसे संपर्क कर उन्होने अपनी धान की फसल उगाने के लिए बैंक कर्जा लिया उसका ब्याज माफ किया जाने की मांग की है। उन्होने कहा, ‘‘ यह एक वास्तविक मांग है और इसे तुरंत पूरा किया जाना चाहिए’’।अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि लोग आम आदमी पार्टी की सरकार द्वारा निरर्थक ब्यान देने के बजाय तत्काल राहत प्रदान करने के लिए सरकार की ओर देख रहे हैं। उन्होने कहा, ‘‘ जिनके घर तबाह हुए हैं उनमें से प्रत्येक के लिए पांच-पांच लाख रूपये जारी किए जाने चाहिए, जबकि किसानों को गिरदावरी लंबित रहने के लिए 25हजार रूपये प्रति एकड़ की अंतरिम राहत दी जानी चाहिए’’।राकरां बेट गांव में लोगों ने दुधारू पशुओं के लिए चारे में भारी कमी के बारे मं बताने के लिए सरदार बादल से संपर्क किया। उन्होने कहा कि अकाली दल के कार्यकर्ता प्रभावित गांवों में हरा चारा और भोजन के पैकेट पहुंचाने में अपना योगदान दे रहे हैं, वहीं सरकार को बारिश के पानी से प्रभावित सभी गांवों में हरा चारा उपलब्ध कराने के लिए तत्काल कदम उठाने चाहिए। उन्होने पानी से फैलने वाली बीमारियों के प्रसार को रोकने के लिए मैडिकल टीमों को तैनात करने की अपील की है। सरदार बादल ने इस बात पर भी जोर दिया कि आप पार्टी की सरकार केंद्र से राष्ट्रीय आपदा प्रबधंक कोष के तहत फंडों का लाभ उठाने के लिए मौजूदा स्थिति को प्राकृतिक आपदा घोषित कर दबाव बनाएगी। उन्होने कहा कि इस बीच राज्य सरकार को सभी विस्थापित लोगों जिनके घर तबाह हो गए हैं , किसानों के साथ साथ उन गरीब लोगों के लिए राहत पैकेज की घोषणा करनी चाहिए जिनकी आजीविका पर बाढ़ से प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है।अकाली दल अध्यक्ष ने कुछ जगहों पर राहत कार्यों पर राहत सामग्री वितरण का भी जायजा लिया। उनके साथ वरिष्ठ नेता प्रो. प्रेम सिंह चंदूमाजरा, डाॅ. सुखविंदर सुक्खी, डाॅ.नछतर पाल , सुनीता चौधरी, जरनैल सिंह वाहद और चरनजीत सिंह बराड़ भी मौजूद थे।